एडमिरल करमबीर नेवी चीफ बने, यह जिम्मा संभालने वाले पहले हेलिकॉप्टर पायलट

  • एडमिरल करमबीर सिंह ने भारतीय नौसेना के 24वें चीफ के तौर पर पदभार ग्रहण किया। वे पहले नेवी चीफ हैं जो हेलिकॉप्टर पायलट के तौर पर भी दक्ष हैं। 
  • फिलहाल नेवी के पास 132 जहाज, 220 एयरक्राफ्ट और 15 सबमरीन हैं। 
  • सिंह 1980 में भारतीय नौसेना में शामिल हुए। 1981 में उन्हें भारतीय सेना के हेलिकॉप्टर ‘चेतक’ और ‘कामोव’ को उड़ाने का मौका मिला।
  •  एडमिरल सिंह नौसेना प्रमुख के पद पर नवंबर 2021 तक बने रहेंगे।
  • नेवी चीफ का कार्यकाल तीन साल का होता है 

श्री पीयूष गोयल ने वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्री पद का कार्यभार संभाला

केंद्रीय वाणिज्‍य एवं उद्योग और रेल मंत्री श्री पीयूष गोयल ने वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्री का कार्यभार संभाल लिया। उनके साथ पूर्व वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्री श्री सुरेश प्रभु भी थे।

इस अवसर पर श्री पीयूष गोयल ने कहा कि श्री सुरेश प्रभु जैसे विचारक का स्‍थान ग्रहण करते हुए वे बेहद अनुगृहित हैं और वे मंत्रालय के कार्य को आगे बढ़ाने का प्रयास करेंगे। उन्‍होंने कहा कि वाणिज्‍य और उद्योग से संबंधित सभी मामलों का अध्‍ययन करेंगे और तत्‍काल ध्‍यान देने की आवश्‍यकता वाले मुद्दों से निपटने के लिए खुद को तैयार करेंगे।  

Source- PIB

25 मई को मनाया गया विश्व थाइरोइड दिवस

थायराइड स्वास्थ्य के बारे में जागरूकता फैलाने और थायराइड रोगों के उपचार के बारे में शिक्षित करने के लिए हर साल 25 मई को विश्व थायराइड दिवस मनाया जाता है।

यह पांच प्रमुख लक्ष्यों को केन्द्रित करता है:

1.थायराइड स्वास्थ्य के बारे में जागरूकता।
2.थायराइड रोगों के इलाज में समझ को बढ़ावा देना।
3.थायराइड रोगों के प्रसार पर जोर देना।
4.शिक्षा और रोकथाम कार्यक्रमों के लिए तत्काल आवश्यकता पर ध्यान केंद्रित करना।
5.नए उपचार के तरीकों के बारे में जागरूकता का विस्तार करना।

थाइरॉयड ग्रंथि

थायराइड ग्रंथि, जिसे अक्सर थायराइड के रूप में जाना जाता है, सबसे बड़ा अंतःस्रावी ग्रंथियों में से एक है। यह गर्दन में स्थित तितली के आकार का ग्रंथि है। थायरॉइड स्वास्थ्य बेहद महत्वपूर्ण है, क्योंकि इसके द्वारा उत्पादित हार्मोन महत्वपूर्ण शरीर के कार्यों को प्रभावित करते हैं ।

Source: GK Today

लोकसभा चुनाव में करारी हार की 10 वजहें, क्या राहुल ने खुद चुनी हैं मुश्किलें?

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की शख्सियत को करीब से जानने वाले जानते हैं कि आम जनता के बीच जो उनकी छवि है, वह उससे एकदम उलट हैं. राहुल गांधी दलितों के लिए दिल में खास जगह रखते हैं.